तो क्या नीतीश कुमार होंगे राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार? जेडीयू नेता के बयान से मची राजनीतिक हलचल

राष्ट्रपति चुनाव की तारीख के ऐलान के साथ ही चर्चा शुरू हो गई है कि देश के 16वें राष्ट्रपति के तौर पर किसे चुना जाता है। अटकलों का बाजार गर्म है। इस बीच जदयू के वरिष्ठ नेता और ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार का नाम लेकर हलचल पैदा कर दी है। श्रवण कुमार ने गुरुवार को कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार में राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री बनने की पूरी काबिलियत है।

 

मीडिया से बात करते हुए श्रवण कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का विजन और सोच राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर का है। अगर नीतीश कुमार राष्ट्रपति बनते हैं तो हर बिहारी को इसमें खुशी होगी। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि राष्ट्रपति की बनने की नीतीश कुमार की ना कोई दावेदारी और ना कोई इच्छा। गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनाव को लेकर बीजेपी कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती लिहाजा नीतीश कुमार को साधने की लगातार कोशिश की जा रही है।

पिछले दिनों बीजेपी के कई केंद्रीय नेता नीतीश कुमार से मुलाकात कर चुके हैं। नीतीश कुमार से मिलने सबसे पहले नितिन गडकरी पहुंचे थे। इस दौरान दोनों ने एक दूसरे की जमकर तारीफ करते नजर आए थे। इसके बाद बिहार दौरे पर पहुंचे केंद्रीय स्वास्थ्य मनसुख मंडाविया ने भी नीतीश कुमार से मुलाकात की थी। केंद्रीय मंत्री नितिन प्रधान खास तौर पर नीतीश कुमार से मिलने दिल्ली से पटना पहुंचे थे।

 

दरअसल नीतीश कुमार के हालिया रुख को लेकर बीजेपी अतिरिक्त सतर्क है। पिछले कुछ समय में नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच नजदीकियां बढ़ी है। ऐसे में बीजेपी जेडीयू को लेकर पूरी सतर्कता बरत रही है। जेडीयू को लेकर सतर्कता बरतने का एक कारण और भी है। 2012 के चुनाव में जेडीयू ने राजग को गच्चा देते हुए पीए संगमा की जगह यूपीए उम्मीदवार प्रणब मुखर्जी को समर्थन दे दिया था। 29 जून तक राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन किया जा सकता है और अगले महीने 21 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव का रिजल्ट आ जाएगा।

Leave a Comment

close