Bihar Weather Today: बिहार के कई हिस्‍सों में तेज हवा के साथ आसमान में छाए बादल, क्‍या सच होगा IMD का पूर्वानुमान?

बिहार में मौसम के करवट बदलने के संकेत मिलने लगे हैं. दक्षिण पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के साथ ही मौसम में बदलाव की आहट भी स्‍पष्‍ट होने लगे हैं. गुरुवार को सुबह से ही प्रदेश के कई जिलों में आसमान में बादल छाए हैं. साथ ही हवाएं भी सामान्‍य से ज्‍यादा गति से बहने लगी हैं. इससे मानसून पूर्व जैसी परिस्थिति बन गई है. मौसम विभाग के पूर्वानुमानों की मानें तो बिहार में 12 जून के आसपास दक्षिण पश्चिम मानसून के सक्रिय होने की संभावना है. मौसम विज्ञानियों ने 5 दिनों के लिए जारी पूर्वानुमान में पूर्वी बिहार के कुछ हिस्‍सों गरज-चमक के साथ बारिश होने की संभावना जताई है. वहीं, बुधवार को प्रदेश के कुछ जिलों में औसत अधिकतम तापमान और औसत न्‍यूनतम तापमान सामान्‍य से ज्‍यादा रिकॉर्ड किया गया. इससे लोगों को झुलसाने और पसीने वाली गर्मी का सामना करना पड़ा.

 

बिहार के कई हिस्‍से भीषण गर्मी की चपेट में हैं. कुछ हिस्‍सों में अधिकतम और न्‍यूनतम तापमान औसत से ज्‍यादा दर्ज किया गया है. मौसम विभाग की ओर से जारी ताजा बुलेटिन के अनुसार, बिहार के कुछ हिस्‍सों में अधिकतम तापमान 1.6 डिग्री सेल्सियस से 3 डिग्री सेल्सियस ज्‍यादा दर्ज किया गया. कुछ जगहों पर न्‍यूनतम तापमान भी औसत से ज्‍यादा दर्ज किया गया. इससे संबंधित क्षेत्रों के लोगों को झुलसाने और पसीने वाली गर्मी का सामना करना पड़ा. बिहार में मानसून के पूरी तरह से सक्रिय होने के बाद ही इन इलाकों के लोगों को गर्मी से राहत मिलने की उम्‍मीद है. गौरतलब हो कि इस बार बिहार के साथ ही पूरे देश में मार्च से ही तेज गर्मी पड़ रही है. इससे आमलोगों के साथ ही मौसम विज्ञानियों की चिंताएं बढ़ गईं.

बिहार में मूसलाधार बारिश की संभावना

मौसम विभाग ने बिहार के कई इलाकों में तेज हवा के साथ बारिश की संभावना जताई है. IMD के ताजा पूर्वानुमान के अनुसार, बिहार में कुछ जगहों पर मूसलाधार बारिश हो सकती है. अगले 5 दिन के दौरान प्रदेश के कई हिस्‍सों में आकाशीय बिजली के साथ ओले पड़ने की भी आशंका जताई गई है. ऐसे में मौसम विभाग ने आमलोगों को सावधानी बरतने की सलाह दी है, ताकि किसी तरह की अप्रिय घटना न हो. बारिश होने से तापमान में गिरावट आने की भी संभावना है.

लगातार आगे बढ़ रहा है दक्षिण-पश्चिम मानसून

दक्षिण-पश्चिम मानसून भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था के लिए काफी महत्‍वपूर्ण है. इसका सामान्‍य रहना अच्‍छा संकेत माना जाता है. मौसम विभाग ने इस बार मानसून के सामान्‍य रहने की संभावना जताई है. यह लगातार आगे बढ़ रहा है. मौसम विज्ञानियों के अनुसार, बिहार में मानसून 12 जून के आसपास सक्रिय हो सकता है. इसके बाद यह पूरे इलाके में फैल जाएगा. धान की खेती के लिए मानसून का सामान्‍य रहना काफी जरूरी होता है.

Leave a Comment

close