कोरोना संक्रमण के बीच इंटर-मैट्रिक की परीक्षा, बिहार बोर्ड ने परीक्षार्थियों के लिए जारी किया गाइडलाईन

पटना. कोरोना काल में इस बार फिर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) ने इंटर और मैट्रिक की परीक्षा को ससमय लेने का फैसला किया है. परीक्षा को लेकर बोर्ड ने नई गाइडलाइन (BSEB Exam Guidelines) भी जारी कर दी है. बिहार बोर्ड की तरफ से सभी डीईओ को निर्देश भी दिए गए हैं. बोर्ड ने निर्देश दिया है कि परीक्षा के दौरान पूरी तरह से कोविड प्रोटोकॉल (Covid Protocol) का पालन कराएं और प्रत्येक बेंच पर सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) मेंटेन करते हुए अधिकतम 2 परीक्षार्थी ही बैठ सकेंगे साथ ही परीक्षा हॉल में प्रवेश से पहले परीक्षार्थियों और कर्मियों को मास्क लगाना अनिवार्य होगा.

 

इसके अलावा परीक्षा के दौरान प्रत्येक पाली में परीक्षा हॉल को सैनिटाइज कराना भी अनिवार्य होगा. वैसे परीक्षार्थी जो मास्क लगाकर केंद्र नहीं पहुंचेंगे उनके लिए परीक्षार्थियों की कुल संख्या का 5 प्रतिशत मास्क परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षित रखने का भी निर्देश दिया गया है. जिस केंद्र पर परीक्षा हॉल में जगह नहीं होगी वहां परीक्षार्थियों को बरामदे पर बिठाना होगा और वहां भी जगह नहीं मिलने पर पंडाल और टेंट लगाकर परीक्षा लेनी होगी. बोर्ड ने सभी डीईओ को सख्त निर्देश दिया है कि हर हाल में केंद्रों पर शारीरिक दूरी का पालन और मास्क लगाना अनिवार्य होगा.

 

वैसे परीक्षार्थी जिन्हें सर्दी, खांसी की शिकायत होगी वह रुमाल लेकर जरूर परीक्षा केंद्र पहुंचेंगे और सभी केंद्रों पर परीक्षा शुरू होने से पहले हर छात्रों का हाथ धुलवाया जाएगा. किसी भी परीक्षार्थी के शरीर का तापमान सामान्य से अधिक होने पर उनके बैठने की अलग से व्यवस्था कराई जाएगी. परीक्षा केंद्र पर किसी भी प्रकार से भीड़ नहीं जुटाने का निर्देश दिया गया है और परीक्षार्थियों को पंक्तिवद्ध होकर परीक्षा हॉल में प्रवेश दिया जाएगा.

 

राज्य में कोरोना काल में ही 1 फरवरी से इंटर की परीक्षा आयोजित होने वाली है जिसमें लगभग 13 लाख परीक्षार्थी भाग लेंगे. 17 फरवरी से ही बिहार में मैट्रिक की परीक्षा आयोजित हो रही है जिसमें 17 लाख के आसपास परीक्षार्थी भाग लेंगे. दोनों परीक्षा आयोजित कराना बोर्ड के साथ साथ वीक्षकों के लिए भी किसी चुनौती से कम नहीं है.

Leave a Comment

close