न तोहफे की झंझट न लिफाफे की टेंशन, शादी में आए लोगों ने दूल्हा-दुल्हन को किया डिजिटल पेमेंट

पूरे देश में इन दिनों डिजिटल पेमेंट का क्रेज है। जहां लोग बाजार में रोजमर्रा की चीजों के साथ-साथ सब्जियां और फल खरीदने के लिए गूगल-पे, फोन-पे, पेटीएम जैसे एप का इस्तेमाल कर रहे हैं, वहीं अब शादी के लेन-देन में भी डिजिटल पेमेंट की झलक देखने को मिल रही है. यानी पैसे देने और लेने के लिए लिफाफा खोजने या उपहार खरीदने की जरूरत नहीं है और लोग डिजिटल पेमेंट को ही प्राथमिकता दे रहे हैं।

 

बिहार में पिछले दिनों एक ऐसी ही शादी हुई. इस शादी में कैश की बजाय डिजिटल पेमेंट पर जोर दिया गया. लड़की की शादी में परिवार ने शगुन के रुपए और गिफ्ट की जगह कैशलेस कल्चर को अपनाया और लोगों से डिजिटल पेमेंट लिया. बिहार के गोपालगंज जिले में हुई इस शादी का वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है. लड़का-लड़की यानी दुल्हा-दूल्हन के परिजनों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैशलेस मुहिम से प्रेरित होकर ही शगुन और नेवता फोन-पे से ले रहे हैं.

ऐसी ही एक शादी हाल ही में बिहार में हुई है। इस शादी में कैश की जगह डिजिटल पेमेंट पर जोर दिया गया। लड़की की शादी में घरवालों ने शगुन के पैसे और तोहफे की जगह कैशलेस कल्चर को अपनाया और लोगों से डिजिटल पेमेंट लिया. बिहार के गोपालगंज जिले में हुई इस शादी का वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. लड़का-लड़की यानी दूल्हा-दुल्हन के परिवारों का कहना है कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कैशलेस अभियान से प्रेरित होकर ही फोन-पे से शगुन और नवता ले रहे हैं.

 

गोपालगंज के कुचायकोट प्रखंड के बेलबनवा गांव से एक जुलूस बारात को थावे प्रखंड के इंदरवा गांव में आया. इस शादी में परिवार ने गूगल पे और फोन पे के क्यूआर कोड के पोस्टर लगाकर नया चलन शुरू किया। लड़की के पिता ने अपनी बेटी की शादी में आए मेहमानों को गिफ्ट करने का आसान विकल्प दिया. इस शादी में आए लोग भी इस क्यूआर कोड का खूब इस्तेमाल कर रहे थे। जब वहां के युवाओं से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि हम प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया और कैशलेस की बात से प्रेरित हुए और फोन-पे से गिफ्ट और नेवता के पैसे लिए।

 

इससे फायादा ये है कि हिसाब में भी गड़बड़ी नहीं होती है और जल्दी पेमेंट भी हो जाता है. इस मुहिम को देख लोग हैरान भी हुए और इस कदम की तारीफ भी करने लगे. शादी-ब्याह में डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने की ओर उठाये गये इस अनोखा कदम की तरफ चर्चा हो रही है और समाज के लोग इसे अच्छी पहल और आसान तरीका मान रहे हैं.

Leave a Comment

close