पप्पू यादव के निर्देश पर जाप युवा अध्यक्ष राजू दानवीर ने लिया सोनू को गोद, उठाया आजीवन पढाई का खर्च

जन अधिकार पार्टी के मुखिया और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने आज नालन्दा जिले के हरनौत थाना क्षेत्र में नीमा कोल का दौरा किया, जहाँ बीते दिनों पांचवी क्लास में पढने वाला सोनू कुमार ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से स्कूल में दाखिला और पढाई करने की गुहार लगाई थी. पप्पू यादव ने आज उस बच्चे से अपने युवा अध्यक्ष पप्पू यादव के साथ मुलाकात की और उनके निर्देश पर राजू दानवीर ने पार्टी की ओर से तत्काल 50 हजार रूपये की मदद करते हुए सोनू को गोद ले लिया और उसके आजीवन शिक्षा की जिम्मेदारी ली. इस दौरान बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पर जमकर हमला बोला. साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बिहार में फ्री कॉमन और कंपलसरी एजुकेशन लागू करने और शिक्षा के निजीकरण पर रोक लगाने की मांग की. वहीं, पप्पू यादव ने सोनू के स्कूल का जायजा भी लिया जो बदहाल था और वहां भूसा रखा मिला.

 

पप्पू यादव ने कहा कि नीतीश कुमार कल्याणबीघा आये तो सोनू से के बाद मुलाकात हाय तौबा हुआ है, लेकिन बगल के पासवान टोला या बिहार के दूसरे बच्चों की बात कोई क्यों नही कर रहा है. पप्पू यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री के जाने के बाद आज इतने दिन में सोनू के गांव के स्कूल का कायाकल्प हो जाना चाहिए था, लेकिन आज भी वहां भूषा भरा है. ऐसे में कैसे बिहार में शिक्षा की बात हो सकती है. यह नालन्दा ज्ञान की धरती है. नीतीश कुमार 4 बार मुख्यमंत्री रहे, फिर भी नालंदा विवि आखिर अभी तक वह शुरू नहीं हो सका? आज क्यों बिहार में 6 हजार से अधिक मिडिल स्कूल और 4 हजार से अधिक हाई स्कूल बिहार में नहीं हैं. 1987 में नवोदय विद्यालय बना तो आज तक दूसरी जगह स्कूल क्यों नहीं बना. कस्तूरबा व अन्य स्कूल तक के लिए जमीन देने को किसने मना किया.

उन्होंने कहा कि सुशील मोदी को शर्म आनी चाहिए कि बीते 40 सालों के शासन में एक लंबा समय उन्होंने भी गुजारा है, लेकिन एक स्कूल तक नही बनवा सके. जो आदमी बाढ़ में अपनी बॉडीगार्ड को मरने के लिए छोड़कर भाग सकता है, वो क्या मदद करेगा इस बच्चे की और कहाँ से देगा 2000 रूपये. हम सोनू की मदद आजीवन करेंगे. लेकिन इससे ज्यादा अहम है कि सुशील मोदी एक सोनू को दो हजार रूपये देने आये, मगर ऐसे सोनू कई हैं बिहार में, उनका क्या होगा? सोनू किसी को पढ़ाकर 4 हजार रूपये सुशील मोदी को दे देगा. सुशील मोदी की यही औकात है कि वह सोनू को 2 हजार देगा. मीडिया ट्रायल हुआ तो सोनू के पास आ गये. जिस देश में मंगल और चाँद पर जाने के जगह नीचे शिव और परसुराम ढूंढे. ताजमहल के नीचे हिन्दू मुसलमान करें. वहां की शिक्षा व्यवस्था कैसे दुरुस्त हो सकती है. उन्होंने कहा कि हमने अपने युवा अध्यक्ष राजू दानवीर से कहा है कि पार्टी इस स्कूल को बैंच, डेस्क से लेकर जो भी जरूरत हो, उपलब्ध करवाए.

 

वहीं राजू दानवीर ने कहा कि सोनू की जीवटता ने आज बिहार की शिक्षा की पोल खोल कर रख दी है. कुछ लोग 2 हजार रूपये का खैरात लेकर आये हैं. लेकिन आदरणीय पप्पू यादव जी के निर्देश पर हमने उन्हें गोद लिया है और आजीवन उनकी पढाई का खर्च उठाएंगे. सोनू की पढाई चन्द पैसों की राजनीति से नहीं, सेवा भाव से की गयी मदद से होगी. दानवीर ने कहा कि बिहार में अगर शिक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करना है तो शिक्षा से माफिया और भ्रष्टाचार को दूर करना होगा. इसके लिए हम और हमारी पार्टी संकल्पित हैं. इस मौके पर पार्टी के सैकड़ों नेता, कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी वहां मौजूद रहे.

Leave a Comment

close