बिहार में फिर से जहरीली शराब का कहर, चाचा-भतीजा समेत तीन की मौत, कई लोग बीमार

बिहार में एक बार फिर से जहरीली शराब का कहर बरपने लगा है. औरंगाबाद, मधेपुरा के बाद मंगलवार को गया में  शराब पीने से चाचा-भतीजा सहित तीन लोगों की मौत हो गई जबकि आधा दर्जन लोगों की हातल बिगड़ गई. कारण जहरीली शराब बताई जा रही है. दरअसल गया जिले के आमस के पथरा गांव में बीती रात ग्रामीणों शराब पी थी जिसके बाद ये घटना हुई.

 

बिहार में शराबबंदी के बावजूद कई जिलों में जहरीली शराब पीने से कई लोगों की मौतें हो रही है जबकि कई लोगों ने अपनी आंखों की रोशनी भी गंवा दी है. शराब के सेवन के बाद जिन लोगों की तबियत बिगड़ी है उनका इलाज मगध मेडिकल अस्पताल में किया जा रहा है. हालांकि पुलिस इस पूरे मामले में सिर्फ दो लोगों की मौत की पुष्टि की है लेकिन मौत किस वजह से हुई है यह बताने में परहेज कर रही है.

 

परिजनों के मुताबिक तीनों लोगों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई थी. शवों को पोस्टमार्टम के लिए अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल भेज दिया गया है. मृतक के रिश्तेदार रघुवीर पासवान ने बताया कि सोमवार की देर शाम कई लोगों ने पथरा गांव के मोड़ के पास शराब का सेवन किया था. देर रात होते-होते अर्जुन पासवान और अमर पासवान जो कि दोनों रिश्ते में चाचा-भतीजा हैं दोनों की हालत बिगड़ी जिसके बाद उनकी इलाज के दौरान मगध मेडिकल अस्पताल में मौत हो गई, वहीं एक शख्स बसंत यादव की मंगलवार को मौत हो गई.

उन्होंने बताया कि पथरा गांव में करीब 10 वर्षों से कई लोगों के द्वारा शराब बेची जाती है और लोग यहां जाकर पीते हैं. यहां पुलिस की मिलीभगत के द्वारा ही शराब खुलेआम बेची जाती है अगर पुलिस गंभीर रहती तो इस तरह की घटना नहीं होती. शराब सेवन करने के बाद मगध मेडिकल अस्पताल में इलाजरत सुमन कुमार और कपिल पासवान ने बताया कि देसी शराब का सेवन गांव में ही किया था. देर रात धीरे-धीरे तबीयत बिगड़ने लगी. तब वहां के स्थानीय आमस पीएचसी में इलाज किया गया जहां से हम लोगों को गया मगध मेडिकल अस्पताल में रेफर कर दिया गया यहां पर हम लोगों की आंखों में समस्या आ रही है.

 

बीमार लोगों ने बताया कि हम लोगों ने देसी शराब का सेवन किया था. गांव में कई वर्षों से शराब बेची जा रही है. इस मामले में पुलिस भी मीडिया कर्मियों को सही सही बताने में परहेज कर रही है हालांकि पुलिस मौत की पुष्टि कर रही है लेकिन किस वजह से मौत हुई है यह पुष्टि नहीं कर रही है.

Leave a Comment

close