बिहार विधानसभा उपचुनाव: जेल से रिहा होते ही पप्पू यादव को कांग्रेस ने दिया टिकट का ऑफर

पटना. बिहार में बदलते राजनीतिक हालात में कांग्रेस (Congress) अब राजद से आमना-सामना करने को तैयार दिख रही है. जेल से रिहा होने के बाद कांग्रेस पार्टी ने पूर्व सांसद पप्पू यादव (Pappu Yadav) को तारापुर से चुनाव लड़ने का ऑफर दे दिया है. कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजीत शर्मा ने कहा कि पप्पू यादव जेल से रिहा हो गए हैं और बिहार में पप्पू यादव लालू यादव के बाद यादवों के दूसरे सबसे बड़े नेता के तौर पर जाने जाते हैं. कांग्रेस उनके संपर्क में है, लेकिन शर्त यही है कि पप्पू यादव कांग्रेस के सिंबल पर ही तारापुर विधानसभा से चुनाव लड़ना तय कर लें.

 

अजीत ने कहा कि अगर पप्पू यादव सहमति व्यक्त करते हैं तो पार्टी इस पर विचार करेगी. पप्पू यादव फैसला चाहे जो कर लें लेकिन कांग्रेस ने पप्पू को यह ऑफर देकर राजद को झटका देने की तरफ कदम बढ़ाने की पूरी कोशश की है. बिहार विधानसभा उपचुनाव के लिए अगले 30 अक्टूबर को राज्य में दो सीटों पर राजद की ओर से उम्मीदवार उतारे जाने के एलान के बाद अब कांग्रेस राजद पर हमलावर होती दिख रही है. पार्टी के वरिष्ठ नेता विधायक शकील अहमद खान ने तो यहां तक कह दिया है कि राजद ने भाजपा के खिलाफ कांग्रेस की मुहिम को कमजोर करने की कोशिश की है. कांग्रेस विधायक ने कहा कि राजद ने गठबंधन को लेकर गलत कदम उठाए हैं.

 

शकील अहमद खां ने कहा कि कांग्रेस अब कुछ भी फैसला ले सकती है. राजद से दूरी और जदयू से नजदीकियां बढ़ाने का संकेत देते हुए विधायक शकील ने तो यहां तक कहा कि नीतीश कुमार के साथ जब  कांग्रेस महागठबंधन में थी तो पार्टी की जीत का स्ट्राइक रेट काफी अच्छा था, लेकिन जो लोग खास समीकरण की बात करते हैं, उनके समीकरण का क्या हश्र हुआ? जदयू के साथ जाने के सवाल पर कांग्रेस नेता शकील अहमद खां ने खुलकर कहा कि अगर नीतीश कुमार भाजपा के साथ गठबंधन से अलग हो जाएं तो कांग्रेस के दरवाज़े उनके लिए खुले रहेंगे, हालांकि इस पर फैसला भी नीतीश कुमार को ही लेना है.

 

 

हेलो! Best Research के साथ Google News पर जुड़े,   लिंक

 

Source : News18

Leave a Comment

close