बिहार : इलाज करने निकले वेटनरी डॉक्टर का पकड़ौआ विवाह; लड़की वालों ने अपहरण कर करवा दी शादी

बिहार में के बेगूसराय (Begusarai) जिले में अपहरण कर पकड़ौआ विवाह (Forced Marriage) करवाने का मामला सामने आया है. इस संबंध में तेघड़ा थाना में प्राथमिकी (एफआईआर) दर्ज करवायी गयी है. पीड़ित पक्ष के द्वारा अपहरण कर पकड़ौआ विवाह शादी करवाने की बात कही जा रही है. हालांकि, पुलिस अभी इस मामले में कुछ भी कहने से इनकार कर रही है.

 

मिली जानकारी के मुताबिक तेघड़ा थाना क्षेत्र के पिढ़ौली गांव निवासी सुबोध कुमार झा ने थाना में आवेदन देकर अपने बेटे का अपहरण कर शादी करने का शिकायत दर्ज कराई है. आवेदन में उन्होंने आरोप लगाया कि सोमवार की दोपहर उनका बेटा ग्रामीण चिकित्सक (वेटनरी डॉक्टर) सत्यम कुमार मवेशी का इलाज करने के लिए निकला था, लेकिन देर रात तक वो घर नहीं लौटा. मंगलवार की सुबह सत्यम की मां के फोन पर शादी का एक विडियो क्लिप आया जिसमें मंदिर में सत्यम और उसके साथ दुल्हन के कपड़े में एक लड़की बैठी हुई थी. आस-पास लोगों की भीड़ थी और पंडित मंत्रोच्चारण कर रहा था. स्पष्ट है कि शादी की रस्में निभाई जा रही थीं. इस वीडियो को देखने के बाद परिवारवालों के होश उड़ गए. हालांकि, BestResearch इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता.

वहीं, सत्यम के चाचा की मानें तो हसनपुर गांव के विजय सिंह ने सत्यम का अपहरण कर उसकी जबरन शादी करा दी है. लिस लापता वेटनरी डॉक्टर सत्यम कुमार की बरामदगी के लिए छापेमारी कर रही है‌. सत्यम के मिलने के बाद ही मामला स्पष्ट हो सकेगा कि उसकी शादी कैसे और किन परिस्थितियों में हुई है.

 

बिहार में दशकों से होता आ रहा है ‘पकड़ौआ विवाह’

बता दें कि बिहार में पकड़ौआ विवाह नई बात नहीं है, दशकों से यह प्रथा चलती आ रही है जिसमें किसी लड़के का अपहरण कर जबरन उसकी किसी लड़की से शादी करवा दी जाती है. जानकार ऐसी घटनाओं के पीछे का कारण युवक के घरवालों की दहेज लोलुपता और लड़की पक्ष के द्वारा दहेज देने में असमर्थता मानते हैं. इसके अलावा वो इसे शिक्षा की कमी से भी जोड़ कर देखते हैं.

Leave a Comment

close