BSc में पढ़ने वाली 20 साल की जूली को बॉयफ्रेंड रोनाल्डो ने दिया धोखा, कोर्ट पहुंचा मामला

बिहार के जमुई जिले की पहली महिला एंबुलेंस चालक के साथ उसके ही प्रेमी द्वारा यौन शौषण करने का मामला सामने आया है. 20 वर्षीय पीड़ित युवती ने इस मामले में महिला थाना में केस भी दर्ज करा दिया. यौन शौषण का आरोप युवती ने अपने ही प्रेमी पर लगाया है. इस मामले में केस दर्ज कर महिला थाना पुलिस ने बुधवार को पीड़िता का बयान कोर्ट में दर्ज करवाया. मिली जानकारी के अनुसार बीएससी पार्ट वन की छात्रा जूली जोसलीन हेंब्रम जो कि चरकापत्थर थाना इलाके के मरियम पहाड़ी की रहने वाली है.

 

पीड़िता ने अपने बॉयफ्रेंड रोनाल्डो हांसदा पर आरोप लगाया है कि शादी का झांसा देकर वह उसके साथ बीते ढाई साल से यौन शोषण कर रहा था. जब वह शादी के लिए दबाव बनाने लगी तो उसने इंकार कर दिया. पीड़िता का कहना है कि उसका प्रेमी दूसरी लड़की से शादी रचाने जा रहा है. बता दें, मुख्यमंत्री ग्रामीण परिवहन योजना के तहत युवती जूली को बतौर चालक एंबुलेंस का लाभ मिला था.

महिला थाना में केस, कोर्ट में बयान दर्ज 

इस मामले में पीड़िता बुधवार को महिला थाना में मामला दर्ज कराने के बाद कोर्ट में अपना बयान दर्ज कराने पहुंची. इस दौरान उसने बताया कि उसके माता पिता बचपन में ही गुजर गए थे, जिसके बाद रिश्तेदारों ने उसका पालन-पोषण किया. वह पढ़ लिख कर खुद के पैर पर खड़ा होना चाहती थी, जिस कारण ही उसे ग्रामीण परिवहन योजना के सहयोग से एंबुलेंस मिला था, वह जमुई जिले की पहली महिला एंबुलेंस चालक है. पीड़िता ने बताया कि सोनो इलाके के रहने वाले रोनाल्डो हांसदा से उसकी मुलाकात 2020 में हुई थी. तब से वह एक दूसरे के संपर्क में आए और फिर दोनों एक दूसरे से प्यार करने लगे. इस दौरान उसका प्रेमी शादी का झांसा देकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाते रहा, एक बार जब गर्भ ठहर गया तब शादी का आश्वासन देकर उसका एबॉर्शन भी करवा दिया.

 

दूसरी लड़की से शादी करने वाला है प्रेमी 

पीड़िता का कहना है कि 17 अप्रैल 2022 को भी उसने संबंध बनाया, बाद में उसे इस बात की भनक लगी कि उसकी शादी कहीं और हो रही है जब वह शादी के लिए रोनाल्डो पर दबाव बनाई, तब उसने शादी से इंकार कर दिया. फिर इसको लेकर पंचायत भी बैठी लेकिन पंचायत में भी कोई फैसला नहीं हुआ. बाद में वह थक हार कर पुलिस की मदद के लिए उसने केस दर्ज कराया है। पीड़िता का कहना है कि रोनाल्डो किसी और लड़की की जिंदगी बर्बाद न करें इसलिए वह उसे सजा दिलाना चाहती है.

 

बताते चलें कि ग्रामीण परिवहन योजना के तहत जब इस युवती को जीविकोपार्जन के लिए एंबुलेंस मिला था और जब वह पहली महिला एंबुलेंस चालक बनी थी. तब जिला प्रभारी मंत्री अशोक चौधरी समेत जिले के कई अधिकारियों ने उसे सम्मानित किया था।

 

Source:- News18

Leave a Comment

close