HomeCricketT20 World Cup में भारत-पाकिस्तान के सामने एक जैसी चुनौती, जो पार...

T20 World Cup में भारत-पाकिस्तान के सामने एक जैसी चुनौती, जो पार पाएगा वही चैंपियन कहलाएगा

टी20 वर्ल्ड कप 2022 वैसे तो 16 अक्टूबर से शुरू हो रहा है लेकिन दुनिया भर की नजर 23 अक्टूबर को होने वाले भारत-पाकिस्तान मुकाबले पर है. पिछले साल हुए टी20 वर्ल्ड में पाकिस्तान ने भारत को 10 विकेट से शिकस्त दी थी. यह पाकिस्तान की विश्व कप में भारत पर पहली जीत थी. ऐसे में इस बार भारत के पास बदले का मौका है. लेकिन, दोनों टीमों के सामने टी20 वर्ल्ड कप में एक जैसी चुनौती खड़ी है. टी20 विश्व कप में कैसे यह चुनौती या कमजोरी टीम की राह में रोड़ा साबित हो सकती है. आइए समझते हैं.

India-vs-Pakistan

पिछले टी20 विश्व कप से भारत और पाकिस्तान की बल्लेबाजी टॉप-3 बल्लेबाजों पर पूरी तरह निर्भर रही है. अगर टॉप-3 बल्लेबाजों का बल्ला बोलता है, तो टीम की जीत की राह आसान हो जाती है और ऐसा नहीं होने की सूरत में टीम की परेशानी बढ़ जाती है. एक-दो मौकों को छोड़ दें, तो दोनों ही टीमों का मिडिल ऑर्डर दबाव में बिखर जाता है. बीते एक साल में भी दोनों टीमें पूरी तरह इस कमजोरी को दूर नहीं कर पाईं हैं. हालांकि, भारत से ज्यादा पाकिस्तान के लिए मिडिल ऑर्डर परेशानी का सबब बना हुआ है. इसके लिए ज्यादा पीछे जाने की जरूरत नहीं. पिछले टी20 वर्ल्ड कप से लेकर अब तक के मुकाबलों पर नजर डालें तो बात साफ हो जाती है.

 

बाबर-रिजवान के कारण पाकिस्तान सेमीफाइनल खेला

पिछले टी20 वर्ल्ड कप में बाबर आजम (303 रन) और मोहम्मद रिजवान (281 रन) की बदौलत पाकिस्तान ने सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था. इसके बाद सबसे अधिक रन तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले फखर जमां (109) ने बनाए थे. इसमें से 55 रन तो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सेमीफाइनल में ही ठोके थे. इसके बाद सिर्फ शोएब मलिक (100 रन) बना पाए थे. यानी मिडिल ऑर्डर रन बनाने में नाकाम रहा था. एक साल बाद भी स्थिति उतनी ही विकट बनी हुई है, जितनी पिछले विश्व कप के दौरान थी. इसी वजह से पाकिस्तान टीम को आखिरी वक्त पर फखर जमां को वर्ल्ड कप के स्क्वॉड में शामिल करना पड़ा.

 

पाकिस्तान का मिडिल ऑर्डर कमजोर

एशिया कप और इंग्लैंड के खिलाफ 7 टी20 की सीरीज में भी पाकिस्तान की मिडिल ऑर्डर की कमजोरी खुलकर सामने आई. एशिया कप में तो बाबर भी नहीं चले, तो ऐसे में पूरी बल्लेबाजी रिजवान के इर्द-गिर्द ही घूमी. इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में भी बाबर आजम (316) और मोहम्मद रिजवान (285) ही टॉप स्कोरर रहे. शान मसूद ने जरूर तीन नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 2 अर्धशतक जड़े. लेकिन, वो हाल ही में न्यूजीलैंड में खत्म हुई ट्राई सीरीज में 4 पारियों में 64 रन बना पाए. इस सीरीज में भी बाबर (201 रन) और रिजवान (192 रन) ही पाकिस्तान के संकटमोचक साबित हुए.

 

पाकिस्तान के लिए एक बात अच्छी यह रही कि न्यूजीलैंड में हुई ट्राई सीरीज में मोहम्मद नवाज, इफ्तिखार अहमद और शादाब खान ने मिडिल ऑर्डर में कुछ अहम पारियां खेलीं. हालांकि, बीते एक साल में इन खिलाड़ियों का प्रदर्शन देखें तो यह अपने रुतबे के मुताबिक नहीं खेल पाए.

 

बाबर-रिजवान हैं पाकिस्तान की जीत की गारंटी

बाबर और रिजवान पाकिस्तान के लिए कितने अहम हैं. इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि बाबर ने टी20 में 14 बार 30 से अधिक गेंद खेली है और इसमें से पाकिस्तान ने 10 मैच जीते हैं. वहीं, रिजवान ने टी20 में 29 बार 30 से अधिक गेंद खेली हैं. इसमें से पाकिस्तान की टीम 23 मैच जीतने में सफल रही है.

 

भारतीय बल्लेबाजी भी रोहित-विराट-राहुल पर निर्भर

भारत के लिए भी टी20 वर्ल्ड कप में मिडिल ऑर्डर की सबसे बड़ी चुनौती है. टीम इंडिया भी अपने टॉप-ऑर्डर यानी रोहित शर्मा, केएल राहुल और विराट कोहली पर काफी निर्भर है. यह तीनों टी20 के सबसे अनुभवी बल्लेबाज हैं. तीनों के नाम टी20 में शतक हैं और 2 हजार से अधिक रन बना चुके हैं. पिछले टी20 विश्व कप में भी देखें तो भारत की तरफ से सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों में केएल राहुल (5 मैच, 194 रन) और रोहित शर्मा (5 मैच, 174 रन) सबसे ऊपर थे. इस बार भी विश्व कप में इन्हीं तीन पर बल्लेबाजी का सारा दारोमदार होगा.

 

सूर्यकुमार यादव की बल्लेबाजी रहेगी सबसे अहम

रोहित, विराट और राहुल को ऑस्ट्रेलिया में खेलने का काफी अनुभव है. इन तीनों के अलावा मिडिल ऑर्डर में शामिल सूर्यकुमार यादव, दीपक हुडा के लिए तो यह ऑस्ट्रेलिया में खेलने का पहला ही अनुभव होगा. हालांकि, भारत के लिए एक बात अच्छी है कि बीते 1 साल में सूर्यकुमार ने जमकर रन बनाए हैं. वो, इस साल टी20 में भारत की तरफ से सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. उन्होंने 23 पारियों में 184 के स्ट्राइक रेट और 40 से अधिक की औसत से 801 रन बनाए हैं. उनके अलावा सिर्फ हार्दिक पंड्या ही मिडिल ऑर्डर में रन बना पाए हैं. हार्दिक ने इस साल 18 पारी में 436 रन बनाए हैं. ऐसे में टी20 विश्व कप में भी भारत की बल्लेबाजी त्रिमूर्ति रोहित, राहुल और विराट के इर्द-गिर्द ही घूमेगी.

साफ है कि भारत और पाकिस्तान में से जिस टीम का मिडिल ऑर्डर अपने सलामी बल्लेबाजों का अच्छा साथ निभाएगा. वही, टीम टी20 वर्ल्ड कप की चैम्पियन बन पाएगी.

Nitesh Joshi
Nitesh Joshihttps://bestresearch.in
Nitesh Joshi is the Editorial Head of Best Research.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

close