टोक्यो पैरालंपिक: मुजफ्फरपुर के शरद को मिला कांस्य, 2 साल की उम्र में पोलियोग्रस्त हुए थे शरद

टोक्यो पैरालंपिक में मंगलवार का दिन भारत के लिए अच्छा रहा. सुबह 10 मीटर एयर पिस्टल SH1 के फाइनल में 39 साल के सिंहराज अधाना ने भारत के लिए ब्रॉन्ज मेडल जीता और शाम को हाई जंप के एक ही इवेंट में भारत को दो और मेडल मिले. भारत के लिए रियो ओलंपिक में गोल्ड जीतने वाले मरियप्पन थंगावेलु ने पुरुषों के हाई जंप के T63 इवेंट के फाइनल में सिल्वर मेडल जीता. इसी इवेंट का ब्रॉन्ज भारत के शरद कुमार के खाते में आया. टोक्यो पैरालंपिक में मंगलवार का दिन भारत के लिए अच्छा रहा. सुबह 10 मीटर एयर पिस्टल SH1 के फाइनल में 39 साल के सिंहराज अधाना ने भारत के लिए ब्रॉन्ज मेडल जीता और शाम को हाई जंप के एक ही इवेंट में भारत को दो और मेडल मिले. इसके साथ ही भारत के टोक्यो पैरालंपिक में 10 मेडल हो गए हैं, जो कि पैरालंपिक में देश का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है.

 

टोक्यो पैरालंपिक में मंगलवार का दिन भारत के लिए अच्छा रहा. सुबह 10 मीटर एयर पिस्टल SH1 के फाइनल में 39 साल के सिंहराज अधाना ने भारत के लिए ब्रॉन्ज मेडल जीता और शाम को हाई जंप के एक ही इवेंट में भारत को दो और मेडल मिले. भारत के लिए रियो ओलंपिक में गोल्ड जीतने वाले मरियप्पन थंगावेलु ने पुरुषों के हाई जंप के T63 इवेंट के फाइनल में सिल्वर मेडल जीता. इसी इवेंट का ब्रॉन्ज भारत के शरद कुमार के खाते में आया. टोक्यो पैरालंपिक में मंगलवार का दिन भारत के लिए अच्छा रहा. सुबह 10 मीटर एयर पिस्टल SH1 के फाइनल में 39 साल के सिंहराज अधाना ने भारत के लिए ब्रॉन्ज मेडल जीता और शाम को हाई जंप के एक ही इवेंट में भारत को दो और मेडल मिले. इसके साथ ही भारत के टोक्यो पैरालंपिक में 10 मेडल हो गए हैं, जो कि पैरालंपिक में देश का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है.

 

पहले प्रयास में ही मरियप्पन, शरद ने पक्का किया मेडलमरियप्पन और शरद दोनों ने अपने पहले प्रयास में ही 1.73 मीटर और 1.77 मीटर की सफल जंप की. शरद इस इवेंट की शुरुआत में बढ़त बनाए हुए थे. हालांकि, शरद 1.86 मीटर ऊंची जंप के लिए शरद के तीनों प्रयास नाकाम रहे. इसके बाद वो गोल्ड मेडल की दौड़ से बाहर हो गए. इसके बाद मरियप्पन और अमेरिका के ग्रियू सैम ही थे. दोनों ने 1.86 का मार्क पर सफल जंप किया. इसके बाद थंगावेलु के 1.88 मीटर के मार्क को पार करने के तीनों प्रयास असफल रहे. जबकि अमेरिकी जंपर ने अपने तीसरे प्रयास में 1.88 मीटर की जंप लगाते हुए गोल्ड अपने नाम कर लिया.

 

रियो ओलिंपिक में भी भारत को हाई जंप में दो मेडल मिले थे. तब मरियप्पन थंगावेलु ने गोल्ड और वरुण सिंह भाटी ने कांस्य पदक जीता था. इस बार थंगावेल तो रजत पदक जीतने में सफल रहे. लेकिन वरुण सातवें पायदान पर रहे.पीएम ने दी थंगावेलु को बधाईमरियप्पन ने इससे पहले रियो ओलंपिक में गोल्ड जीता था. यह पैरालंपिक गेम्स में उनका लगातार दूसरा पदक है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर थंगावेलु को बधाई दी. उन्होंने लिखा कि मरियप्पन थंगावेलु निरंतरता और उत्कृष्टता का पर्याय है. रजत पदक जीतने पर उन्हें बधाई. भारत को उनके इस कारनामे पर गर्व है.

 

दो मेडल के साथ ही भारत के अब कुल 10 पदक हो गए हैं. यह पहला मौका है, जब भारत ने किसी पैरालंपिक खेल में इतनी संख्या में पदक जीते हैं. भारत ने अब तक 2 गोल्ड, 5 सिल्वर और 3 ब्रॉन्ज मेडल जीते हैं.

 

हेलो! Best Research के साथ Google News पर जुड़े,   लिंक

 

Source: News18

Leave a Comment

close