बिहार: तैयारी के दौरान हुआ प्यार, पुलिस में नौकरी लगी तो पत्नी ने पति को ही पहचानने से कर दिया इनकार

सहरसा में कथित तौर पर एक महिला ने पुलिस में नौकरी लगते ही अपने पति को पहचानने से इनकार कर दिया. अब पति इंसाफ के लिए दर-दर भटक रहा है. इस मामले में पीड़ित ने समस्तीपुर के एसपी को आवेदन दिया है.

 

राजेंद्र कुमार (बदला हुआ नाम) नाम के शख्स ने बताया कि युवती रजनी कुमारी (बदला हुआ नाम) से उसकी मुलाकात हवाई अड्डा मैदान में हुई थी, जहां दोनों दौड़ लगाने जाते थे. शख्स ने बताया कि रजनी बिहार पुलिस की तैयारी कर रही थी और वह आर्मी की तैयारी कर रहा था. इस दौरान दोनों के बीच प्रेम हो गया और फिर दोनों ने साथ जीने-मरने की कसम भी खाई.

युवक ने बताया कि शादी से पहले शहर के नया बाजार में 4 महीने साथ भी रहे, जिसके बाद पिछले साल ही परिजनों की रजामंदी से दोनों ने शादी कर ली. सहरसा के मटेश्वर धाम मंदिर में उनकी शादी करवाई गई. शादी होने के बाद जब पत्नी को बिहार पुलिस से जॉइनिंग लेटर आया तो वह पैसों की मांग करने लगी.

 

पीड़ित राजेंद्र ने बताया कि वह अपनी पत्नी के पीछे तब तक 14 से 15 लाख रुपये खर्च कर चुका था. बाद में वह ट्रेनिंग के लिए चली गई और जब वह उससे मिलने गया तो उसकी पत्नी ने पहचानने से ही इनकार कर दिया.

 

आरोप है कि जब युवक दोबारा ट्रेनिंग सेंटर गया तो उसकी पत्नी ने एक सिपाही के जरिए उसे डांट-डपटकर भगा दिया. पीड़ित के मुताबिक, उस दौरान उसकी पत्नी ने वादा कर दिया कि वह ट्रेनिंग खत्म होने के बाद उसके साथ रहने आ जाएगी.

 

पीड़ित ने कहा, ट्रेनिंग खत्म होने के बाद जब पत्नी गांव आई तो उसने पंचायत बुला ली और चार-पांच लोगों को बैठाकर बोली- अब वह पति के साथ नहीं रहेगी.

 

इसी बीच, राजेंद्र ने समस्तीपुर के पुलिस अधीक्षक (SP) के पास भी आवेदन दिया ताकि उसे इंसाफ मिल सके, क्योंकि उसकी पत्नी उसी जिले के पटोरी थाने में तैनात है.

वहीं, शिकायत करने के बाद एसपी ने कहा कि केस महिला थाने का है जिसे वो ट्रांसफर कर देंगे. युवक अब न्याय की मांग कर रहा है. दोनों की शादी 2021 में हुई थी.

Leave a Comment

close