बिहार सरकार को फिर नहीं मिले योग्य शिक्षक, अभ्यर्थियों को चांस देगी सरकार

PATNA : बिहार में शिक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए राज्य सरकार लगातार शिक्षकों की बहाली कर रही है। शिक्षा विभाग की तरफ से शिक्षकों की बहाली के लिए काउंसलिंग की प्रक्रिया अपनाई जा रही है लेकिन हैरत की बात पर है कि हर प्रयास के बावजूद बिहार सरकार को अब तक के योग्य शिक्षक नहीं मिल पा रहे हैं। बिहार में 90 हजार से ज्यादा शिक्षकों की बहाली के लिए दो राउंड की काउंसलिंग हो चुकी है लेकिन अभी भी 47 हजार से ज्यादा पद खाली हैं। दो राउंड की काउंसलिंग के बावजूद अब तक केवल 38014 अभ्यर्थियों का चयन हो पाया है। योगेश शिक्षकों की नियुक्ति राज्य सरकार के लिए अब एक बड़ी चुनौती बनती जा रही है।

 

शिक्षा विभाग की तरफ से मिले आंकड़ों के मुताबिक क्लास 1 से लेकर 5 तक के लिए सामान्य विषय में 43742 पदों पर नियुक्ति होनी है, जिसमें 23528 पद खाली रह गए हैं। इन कक्षाओं के लिए अब तक 24214 अभ्यर्थियों का चयन हुआ है। वहीं क्लास 6 से लेकर 8 तक के लिए 23206 रिक्त पदों में एक 11728 अभ्यर्थी मिले हैं जबकि 11478 पदों पर अभी शिक्षकों की नियुक्ति की जानी है। शिक्षक नियोजन के दौरान योग्य अभ्यर्थियों की कमी के कारण शिक्षा विभाग को परेशानी झेलनी पड़ रही है लेकिन विभाग ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि किसी भी कीमत पर योग्य अभ्यर्थियों की ही शिक्षक के पद पर नियुक्ति की जाएगी।

 

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा है कि जहां पर पद खाली रह गए हैं वहां योग्य अभ्यर्थियों को एक और मौका दिया जाएगा। विभाग का लक्ष्य है कि सभी रिक्त सीटों पर योग्य अभ्यर्थी मिल जाएं। शिक्षक बहाली हमारी प्राथमिकता में सबसे ऊपर है। हालांकि उन्होंने कहा है कि किसी भी कीमत पर योग्यता से कोई समझौता नहीं किया जाएगा। आपको बता दें कि शिक्षक बहाली के लिए काउंसलिंग के दौरान जहां कहीं भी शिकायतें मिली शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने तत्काल उस पर एक्शन लिया और पूरी नियोजन प्रक्रिया को ही रद्द कर दिया। अब देखना होगा योग्य शिक्षकों के लिए सरकार का यह इंतजार कब खत्म हो पाता है।

 

हेलो! Best Research के साथ Google News पर जुड़े,   लिंक 

 

 

 

Source : FirstBihar

Leave a Comment

close