ससुरालवालों ने पत्नी को नहीं किया विदा तो दामाद ने सास की पीट-पीटकर ले ली जान

बिहार से रिश्ते को शर्मसार कर देने वाली एक घटना सामने आई है. मामला बांका से जुड़ा है जहां दामाद द्वारा पत्नी को विदा कराने को लेकर उपजे विवाद में अपनी बुजुर्ग सास की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. हत्या की इस घटना को अंजाम देकर दामाद फरार हो चुका था बावजूद पुलिस ने हत्यारे दामाद को गिरफ्तार कर लिया. घटना बांका जिले के सुईया ओपी के अलकुसिया गांव की है. बताया जा रहा है कि मृतका उर्मिला देवी और उसका पति भागवत यादव ने अपनी पुत्री विभा की शादी तीन वर्ष पूर्व थाना क्षेत्र के लहरनिया के संजय यादव से की थी.

 

शादी के बाद से विभा को संजय यादव द्वारा प्रताड़ित किया जाने लगा और इसी दौरान एक बच्चे का भी जन्म हुआ लेकिन प्रताड़ना से परेशान विभा अपने माता-पिता के पास आकर रहने लगी और ससुराल जाने से मना कर दी. कई बार प्रयास करने के बावजूद पति के पास जाने से इनकार करती रही जिसको लेकर पूर्व में भी ससुराल में ही पत्नी और सास ससुर की पिटाई करने के साथ ही खुराफात करते रहता था. बीते शनिवार को भी संजय ससुराल गलत इरादे के साथ पहुंचा था.

 

वो सास ससुर की निगरानी करते रहा. कुछ काम से सास और ससुर गांव में ही गए थे तभी रास्ते में जब सास अकेले घर लौट रही थी तो संजय ने पहले बेटी को साथ भेजने की मांग करते हुए मारपीट की और किसी बड़े पत्थर पर पटक दिया जिससे सास का सिर फट गया. इसी दौरान लौट रहे ससुर की नजर दामाद की हरकत पर पड़ी और ससुर हल्ला करने लगा. भागने के क्रम में संजय ने सास पर चाक़ू से भी प्रहार कर दिया और बाद में सास उर्मिला देवी की मौत हो गयी.

 

घटना की जानकारी पूरे गांव के साथ ही पुलिस को भी मिली. इस बाबत मृतका के रिश्तेदारों के कहना है कि बेटी की बिदाई कराने को लेकर पहले भी दामाद द्वारा पिटाई किया जाता था और बीती रात भी पीटकर हत्या करने की बात कह रहे हैं. पुलिस ने घटना स्थल पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिये बांका भेज दिया है. इस मामले को लेकर मृतका के बुजुर्ग पति भागवत यादव के बयान पर दामाद द्वारा पत्नी की हत्या करने का मामला दर्ज कराया गया है. थानाध्यक्ष मनीष कुमार ने भी महिला की हत्या की पुष्टि करते हुए मामले की आरोपी की गिराफ्तारी कर लेने के साथ ही आगे की कार्रवाई की बात कही.

Leave a Comment

close